Sunday, 27 October 2019

Antarvasna मे मै और मम्मी भी चुदी और छोटी बहन को भी चुदवाई

By
Antarvasna sex story आप सभी का स्वागत है. इस कहानी को पड़ने के बाद हमारी हॉट video देखना ना भूले.
कहानी के अंत में हमारी मस्त चुदाई की विडियो भी दी हुई है. कहानी और विडियो कैसी लगी हमें जरुर कमेंट करके बताना. Antarvasna sex story

मेरा नाम पायल है। मेरी बहन का नाम पूजा है मेरी माँ 38 साल की है। मेरे पापा होटल में मैनेजर हैं। पापा कई कई दिन घर नहीं आते हैं हम तीनो माँ बहने ही घर पर रहते हैं। हम तीनो एक से बढ़कर एक सेक्सी हैं। मैं खुले विचार की लड़की हूँ स्कूल में पढ़ती हूँ मेरी छोटी बहन बहुत ही हॉट है। मेरी माँ टिप टॉप में रहती हैं कसा बदन 36 साइज की ब्रा पहनती हैं मैं 34 की और मेरी बहन 32 की अब आपको हम तीनो के बूब्स के बारे में भी पता चल गया होगा।Antarvasna sex story


मेरा नाम पायल है। मेरी बहन का नाम पूजा है मेरी माँ 38 साल की है। मेरे पापा होटल में मैनेजर हैं। पापा कई कई दिन घर नहीं आते हैं हम तीनो माँ बहने ही घर पर रहते हैं। हम तीनो एक से बढ़कर एक सेक्सी हैं। मैं खुले विचार की लड़की हूँ स्कूल में पढ़ती हूँ मेरी छोटी बहन बहुत ही हॉट है। मेरी माँ टिप टॉप में रहती हैं कसा बदन 36 साइज की ब्रा पहनती हैं मैं 34 की और मेरी बहन 32 की अब आपको हम तीनो के बूब्स के बारे में भी पता चल गया होगा। यह सब कैसे हुआ वही बताने जा रहे हैं कैसे हम तीनों चुदाई के मजे लिए। Antarvasna sex story

मैं दिल्ली के पालम विहार इलाके में रहती थी।  ज्यादातर हम तीनों क्योंकि पापा तो हमेशा होटल में ही रहते थे।  हम दोनों बहन जवान हो चुके हमें तो लड़के चाहिए था हर लड़के में थोड़ा रिस्क होता है।  इसलिए मैंने एक शादीशुदा लड़की को पटाई। उसकी अभी तुरंत शादी हुई थी गांव से दिल्ली आया था।  उसकी बीवी भी उसके साथ आई थी.वह दोनों ही बड़े उम्र के थे। मैरिज के चक्कर में या यूं कहिए सेक्स के चक्कर में जल्दी शादी कर लिया होगा। Antarvasna sex story

 मैं उनके वाइफ को चिट्ठी कहती थी वह भी मुझे छोटी बहन मानती थी और मैं उनके पति को पूजा करता हूं क्या आप समझ गए होंगे मैंने अपना जुगाड़ बना दिया था धीरे-धीरे उनके घर जाने लगे वह दोनों भी आने लगे मम्मी भी बहुत प्यार करती  थे और बेटी दामाद मानते थे। तो धीरे धीरे धीरे-धीरे मजाक होने लगा। और रिश्ता बहुत गहरा हो गया था। अब उन दोनों का खाना सप्ताह में २ दिन मेरे यहाँ ही होता था। देर रात तक बातचीत करते रहते थे। Antarvasna sex story

फिर एक दिन ऐसा आया की दीदी गाँव चली गई क्यों की वो प्रेग्नेंट हो गई थी। अब जीजा अकेले रहते थे। ज़िंदगी में एक यही इंसान थे जिनसे बिना रोक टोक जाकर मिल सकती थी। कोई दुरी नहीं था पर अभी तक सेक्स समबन्ध नहीं बना था पर मेरी चूत गीली हो जाती थी उनके बारे में सोचकर और मैं चुदने के लिए बैचेन होने लगी। मुझे उनका लंड चाहिए था। Antarvasna sex story

1 दिन की बात है,  हम चारों खाना खा रहे थे तभी मोबाइल की घंटी बजी मम्मी ने फोन उठाया। एक मम्मी की बहन नोएडा में रहती थी उनका अचानक तबियत खराब हो गया था वो आधे खाने से उठी और तुरंत ही वह के लिए निकल पड़ी। जाते जाते वो जीजा को भी बोल गई की बेटा आज यही सो जाना मैं तो अब सुबह ही आ पाऊँगी। इतना कहकर चली गई। Antarvasna sex story

हम तीनो खाना फिनिश किया और फिर बातचीत करने लगे। फिर हमलोगों ने टीवी पर एक मूवी देखि वो थोड़ा एडल्ट किस्म का था तो जब भी किश करने का सिन आता या सेक्स का सिन आता तो मैं जीजा को देखती वो भी मुझे देखते। पूजा भी हम दोनों को देखती यानी की हम तीनो के जिस्म में आग लगी थी चुदाई का। और फिर सोने चले गए।  दो कमरे का मकान था एक कमरे में दो बेड और दूसरे में एक था। पूजा हमेशा अकेले ही सोती है तो वो उस कमरे में चली गई सोने और हम दोनों इस कमरे में रहे। Antarvasna sex story


हम दोनों सोने लगे पर नींद नहीं लगे। मैं बोली जीजा मुझे अकेला अच्छा नहीं लग रहा है क्या मैं आपके पास आ जाऊ मैं आपके पैर के तरफ सो जाउंगी। तो वो बोले पैर के तरफ क्यों आप सीधे सो जाइये. मैं कुछ नहीं करुगा। तो मैं भी आपको अपने पर भरोसा है मुझे भरोसा नहीं है जिसके साथ के सुन्दर राजकुमार सोया हो। और मैं हंसने लगी। मैं अपने बेड से उठकर उनके बेड में चली गई। पर पांच मिनट के अंदर ही हम दोनों की साँसे तेज तेज चलने लगी और आवाज लड़खड़ाने लगे। और फिर हम दोनों एक दूसरे को देखे और फिर मैं उनको किश करने लगी और वो भी किश करते करते मेरी चूचियों को दबाने लगे। Antarvasna sex story

वो मेरे ऊपर चढ़ गए। और हम दोनों एक दूसरे के पकडे खोल दिए और वो मेरी चूत को चाटने लगे। मेरे बूब्स को पिने लगे दबाने लगे। गांड में ऊँगली करने लगे मैं तो पागल हो गई थी मेरी चूत से गरम गरम पानी निकलने लगा था वो  मेरी चूत को चाटने लगे और फिर क्या बताऊँ दोस्तों मेरे पुरे श्री में आग सी लग गई थी। मुझे अब देरी नहीं चाहिए थे मुझे तो लंबा मोटा लौड़ा मेरे चूत में चाहिए थे। और वो तुरंत ही मेरे दोनों टांगो को अलग अलग किये और मेरे चूत में मोटा लंड घुसेड़ दिए। मुझे काफी दर्द होने लगा पर तीन चार झटके के बाद अच्छा लगे लगा और शुरू हो गया चुदाई का खेल वो जोर जोर से मुझे चोदने लगे। कभी वो ऊपर कभी मैं ऊपर हम दोनों एक दूसरे को खुश करते रहे। तभी अचानक दरवाजा खुला और पूजा कमरे में आ गई हम दोनों की चुदाई पकड़ी गई। फिर देखते देखते वो फिर से वापस अपने कमरे में चली गई। हम दोनों तब भी नहीं रुके और जोर जोर से चुदाई करते रहे और करीब चालीस मिनट में हम दोनों ही शांत हो गए। Antarvasna sex story

अब डर था पूजा का वो शायद मम्मी को ये बात बोल देती तो मैं उसके कमरे में गई और बोली बहन देख जो हो गया सो हो गया तुम मम्मी की मत कहना तो वो बोली क्यों मैं क्या आलू बैगन हूँ सेक्स सिर्फ तुम्हे ही करना आता है।  मजे ले ली चुदाई का और मैं यहाँ अकेली मैं समझ गई वो भी चुदने के लिए तैयार थी।

Antarvasna sex story


जाकर मैं जीजा को ये बात बताया तो जीजा कमीना तुरंत ही उसके कमरे में चला गया और फिर पूजा को अपने बाहों में भर लिया और फिर तुरंत ही पूजा की चुदाई करने लगा। पूजा चिल्ला रही थी और जोर से और जोर से और जीजा अब पूजा को जोर जोर से चोदने  लगे। फिर मैं भी कमरे में चली गई और अब हम दोनों बहन मिलकर चुदाई करने लगे. जब वो पूजा को चोदते तब मैं कभी जीजा की गांड सहलाती कभी पूजा की चूचियां को दबाती कभी पूजा के मुँह पर बैठती और अपना गांड चटवाती। पूजा मेरी चूत और गांड खूब चाटी जीजा चोद  कर चूत का भोंसड़ा बना दिया। और फिर तीनो ही थक कर सो गए। Antarvasna sex story

सुबह कब हुई पता ही नहीं चला मम्मी दरवाजा खटखटा रही थी थी अब तो सब गड़बड़ हो गया था मैं तो नंगी थी मेरे कपडे दूसरे कमरे में जीजा का भी सारा कपड़ा दूसरे कमरे में हम तीनो ही नंगे सो रहे थे। अब क्या करते पूजा दरवाजा खोल दी और पूजा ने तो सारा कपड़ा पहन लिया था पर मैं बेडसीट लपेटे कोने में कड़ी थी और जीजा भी वैसे ही एक चादर। वो अंदर देखे वो समझ गए सारा माजरा। हम दोनों तुरंत ही तैयार होकर पढ़ने चले गए और जीजा घर पर और मेरी माँ घर पर। Antarvasna sex story

जब स्कूल पहुंची तो देखि स्कूल की छुटी हो गई थी किसी कारण बस सरकार ने आर्डर दिया था स्कूल बंद होने का। वापस आ गई तो दरवाजा बंद देखा।

Antarvasna sex story -  Antarvasna में बॉस की लंड से चुदाई.

अंदर से आवाज आ रही थी चोद बेटा चोद. आज मुझे खुश कर दे। मुझे पता है आपने मेरी दोनों बेटियों को रात भर चोदा है। आज रात मुझे दे देना मैं तुम्हारे कमरे में आ जाउंगी या यही आ जाना। और क्या बताऊ नॉनवेज स्टोरी डॉट कॉम के दोस्तों मेरी माँ वाइल्ड होकर चुदवा रही थी। वो मोअन कर रही थी और जोर जोर चिल्लाती भी थी। और फिर दोनों शांत हो गए। मैं दरवाजा खटखटाई तो मम्मी को लगा कोई होगा तो जीजा को कोने में छिपा दी। पर हम दोनों अंदर आ गए जहा जीजा कोने में नंगे खड़े थे।Antarvasna sex story

फिर क्या था दोस्तों हम चारो मिलकर हसने लगे और फिर आप खुद ही सोचिये हमारे घर का माहौल आने वाले दिनों में कैसा हो गया होगा। जी हां आप सही सोच रहे हैं बन्दा एक और चुदने बाले तीन बारी बारी से हम तीनो अपने जिस्म की आग को बुझाते रहे।

Antarvasna Sex Videos Watch Now - 

0 comments:

Post a Comment