Wednesday, 9 October 2019

Antarvasna में भाई के लंड से चुदाई

By
Antarvasna में सभी का स्वागत है . तो चलिए बताती हु की मै अपने भाई के लंड से चुदी कैसे. मैरा नाम मनीषा है . कनाडा कि रहने वाली हु .मुझे indian sex stories और हॉट लड़के बहुत पसंद है और मै उनसे चुदाई भी करनी चाहती हु .यदि आप हॉट है तो जरुर कमेंट करिए गा मुझे , मेरे साथ चुदाई का मजा लेने के लिए.

हमारा एक छोटा सा परिवार है . जिसमे मै , मेरी माँ , पापा और मेरा एक भाई रहता है जो मुझसे करीब १ साल छोटा है . आप लोग जानना चाहते हो मेरी ऐज कितनी है . मै २० साल कि हु . [ओहो आप लोगो का लंड खड़ा तो नहीं हुआ मुझे चोदने के लिए , जरुर कमेंट करे कहानी पड़ने के बाद . क्या वाकई आपका लंड खड़ा हुआ था ]

मुझे बचपन से ही चुदाई करने की सोख थी . लेकिन आज तक कोई भी नहीं मिला जिसके साथ चुदाई कर साकू. कोई भी हॉट लड़का को अगर में देख लेती तो मेरी चूत में आग लगजाती थी और मेरा चूत चुदवाने के लिए गिला हो जाता था. शारीर मानो नागिन की तरह झुमने लगती थी.

जैसे की मैंने एक Antarvasna सेक्स विडियो मे देखा था की ,लड़के लोग गरम होने पर आपने लंड को हाथो से पकड़ कर हिलाते है या मुठ मरते है . तो मेने भी अपनी सेक्स की प्यास मिटाने के लिए चूत में अंगुली घुसती और निकालती थी क्यू की मेरे पास कोई भी लंड नहीं था . जिससे मैं आपनी चूत की प्यास बुझा सकू.

Antarvasna Mai Bhai Ki Land Se Chudi


मैं रोज बेचेन होती थी चुदाई के लिए . लंड का चुदाई क्या होता है मुझे मालूम भी नहीं था . मेने सिर्फ सेक्स वीडियोस में देखि थी . लेकिन मुझे असल जिंदगी मै लंड का स्वाद चखना था. मैं इतनी बेचेन थी की किशी का भी लंड मुझे चाहिए था .सिर्फ मुझे चुदने से मतलब था . तब मेरी नजर मेरे छोटे भाई पर पड़ी . मै भूल ही गयी थी की मेरे ही घर में एक यंग लंड है मेरा भाई. लेकिन मुझे पता नहीं था की क्या वह मुझे अपना लंड देगा की नही. मैंने ठान ली की , मेरे चूत में पहला लंड मेरे भाई का ही गाएगा .


हर हापते मेरे पापा और मम्मी किसी न किसी रिश्ते दार के घर जाते ही है और घर में सिर्फ मैं और मेरा भाई रहता था . इस मोके का मेने फाइदा उठाया और भाई के ओर करीब जाने की कोसिस की .

पापा ओर माँ चले जाने के बाद मैंने भाई से कहा , भाई मै नहाने जा रही हु तू यही रहना यदि मुझे कुछ जरुरत परे तो जरुर देना . उसने कहा ठीक है दीदी आप बुलाने से मै आजाउगा . मै नहाने जाने से पहले साबुन जानबूझ कर बाहर ही छोर आई थी. मैंने साबुन लेने के बहाने भाई को बाथरूम के अन्दर बुलाया . भाई को कहा - भाई जरा साबुन मेरे पीठ पर लगा दोगे जरा मेरा हाथ नहीं पहुच रहा है पीठ तक . मैंने सिर्फ ब्रो और लाल पेंट पहनी हुई थी . लाल पेंट से सिर्फ मेरी चूत ही ढकी हुई थी बाकि सब कुछ दिखाई दे रहा था. और ब्रो से मेरी सेक्सी चुचिया पूरी दिखाई दे रही थी. पहली बार जब भाई मुझे देखा तो देख ता ही रहा और जब मेने उसके आखो में देखा तो वह नजर हटा लिया . मुझे पता हो गया की कुछ-कुछ असर जरुर हुआ है.

भाई ने पीठ पर साबुन लगाना स्टार्ट किया , मैने ब्रो पहनी हुई थी इसलिए पूरी तरह से साबुन पीठ पर नहीं लगरहा था . मैंने भाई से कहा ,, भाई एक काम कर मेरे ब्रो के बटन को खोल दे - साबुन ठीक से तब लगेगा . मेरे कहने तुरंत ही भाई ने बटन खोल दिया और मैंने भी ब्रो पूरी उतार दी . साबुन लगाते वक्त बाई मेरे चुचिओ के तरफ देखता रहा और साबुन लगाता रहा . भाई का हाथ साबुन लगाते समय धीरे-धीरे मेरे चुचिओ में टार्च करता रहा और मै गरम होती रही .

कुछ देर बाद मैंने भाई से कहा - भाई अब बस करो बहुत साबुन लगा दिया अब रहने दो , मेरी पेंट पूरी तरह से भीग गई हे इसे उतारने दो नहीं तो मुझे दाद हो जाये गा . भाई ने कहा - दीदी मै बाहर जाता हु आप नाहा लो . तब मैंने तुरंत ही उसे रोकने के लिए कहा - भाई तुम रुक सकते हो मुझे कोई समस्या नहीं है . चाओ तो तुम भी मेरे साथ ही नाहा लो . चलो मैं आज तुमको नहलाती हु . यहाँ कहकर मैंने झट से आपनी पेंट उतार दी और पूरी तरह से नंगी हो गई. मुझे नंगा भाई देखता ही रहा . भाई इस तरह से मुझे देख रहा था मानो अभी ही मुझे चोद डालेगा.


मैंने भाई के पास गई और उसका पूरा कपड़ा उतार दिया और उसे भी नंगा कर दिया . भाई कुछ भी नहीं कह रहा था. ऐसा लग रहा था मानो भाई को करंट लग गया हो . भाई का लंड लोहे की तरह तना हुआ था. मैंने पूछा भाई तुम्हारा लंड मुझे नंगा देख कर खड़ा हो गया है क्या तुम मुझे चोदने को सोच रहे हो सही बोलो भाई नही तो मैं पापा ओर मामा को बता दूंगी. भाई ने तुरतं कहा - नहीं दीदी ऐसा बात नहीं है मैंने आज ताग किशी लड़की को ऐसा हॉट नंगा नहीं देखा हु इसलिए मेरा लंड खड़ा हो गया है .

मैंने कहा - भाई साच-साच कहना मुझे चोदने का मन कर रहा है तो . भाई ने कहा - साच कहु तो दीदी हा बहुत मन कर रहा है आपको चोदने का . मैंने कहा तो ठीक है आओ तब चोदो मुझे . मैंने कहकर उसके लंड को आपने हाथो मै पकड़ लिया और उसके हाथो को आपने चुचिओ पर रख दिया. और दबाने को कहने लगी. भाई के लंड को पकरते ही मुझे बहुत सकून मिला .

Antarvasna Sex Story

भाई ने मेरे चुचिओ को सहलाना आरंभ किया . भाई मेरे चुचिओ को जेसे जेसे दबाता था मेरे शारीर में गर्मी उतनाही बडती जा रही थी . भाई ने पागलो की तरह मेरे चुचिओ को चूसने लगा , मुझे ओर भी मजा आने लगा और मेरे मुह से आहा ,आ ,आह की आवाज निकलने लगी .मै पूरी तरह से होस खो चुकी थी . मै फार्स पर ही चुदवाने के लिए लेट गयी . मैंने भाई से कहा - प्लीज भाई मुझे आब जरा चोदो मेरे चूत की प्यास आपनी लंड से बुझाओ भाई .

भाई ने आपनी लंड को मेरे चूत पर रख दिया और लंड से मैरे चूत को रगड़ने लगा . खुसी के मारे मेरे आखो से आसू निकलने लगे और जाब भाई ने आपने लंड को मेरे चूत में पूरा गुसाढ़ या धुका दिया तो मुझे मानो स्वर्ग ही मिल गया. भाई ने दोनों हाथो से मेरे चुचिओ को दबादा रहा ओर मेरे टांगो को उठा कर आपने कंधो पर मुझे चोदता रहा . मुझे बहुत मजा आ रहा था.भाई ने आपने लंड का पूरा बिर्या मेरे बुर मे ही छोड़ दिया .

आब मुझे लंड के लिए तरपना नहीं पड़ता है . मुझे जब भी जरुरत होती है मै भाई के पास चली जाती हु.

Antarvasna Sex Story ( भाई के लंड से चुदाई )

दोस्तों यदि किसी बहन ने किसी भाई से या फिर किसी भाई ने किसी बहन से चुदाई की है तो जरुर हमें बताय hindiantarvasnasexstory@gmail.com पर मेल कर के .

2 comments:

  1. Hi dear Aap sey sex Karna chata hu plz reply me dear

    ReplyDelete

Banner4

Followers